पिंपल्स के गड्ढे भरने का उपाय। acne scars removel treatment and cream in hindi

What is acne scars (पिंपल्स के गड्ढे) – 
पिंपल हर किसी को जीवन में एक न एक बार तो होता ही है लेकिन 14 वर्ष की उम्र से लेकर 33 वर्ष की उम्र तक इसके होने की संभावना अधिक रहती है।
यह पिंपल भी कई प्रकार के होते हैं जैसे कुछ छोटे बड़े और दानेदार

छोटे pimple तो समय के साथ जल्दी से खत्म हो जाते हैं लेकिन जो बहुत बड़े-बड़े पिंपल होते हैं और जिनके अंदर बहुत पस भरा होता है और जिसके कारण दर्द भी होता है मैं ऐसे पिंपल हमारे चेहरे पे गहरा गड्ढा या निशान छोड़ जाते हैं जिसे हम acne scars कहते हैं।

Types of acne scars –

Acne scars कई प्रकार के होते हैं और उनका ट्रीटमेंट की अलग अलग होता है तो आइए जानते हैं acne scars के प्रकार

Atrofic scars –

जब भी हमारे स्क्रीन में पिंपल जैसी कोई भी चीज होती है तो उसके जाने के बाद स्किन अपनी नेचुरल हीलिंग प्रोसेस स्टार्ट कर देता है जिससे छतिग्रस्त हुई त्वचा फिर से भरने लगती है।

इसका मुख्य कार्य कोलेजिन करता है, लेकिन कभी-कभी ऐसे समय में हमारी त्वचा में कोलेजिन का निर्माण बहुत कम मात्रा में होता है जिसके कारण हमारी त्वचा पर छोटे छोटे गड्ढे बन जाते हैं जिसे हम अट्रॉफ़िक scars बोलते हैं. 

इस टाइप के इस scars से सबसे ज्यादा मारे गालों पर या फिर हमारे माथे पर बनते हैं।
कभी-कभी इस तरह के scars रेड डार्क या पिगमेंटेड भी दिखने लगते हैं।
इनके तीन प्रकार होते हैं –

! Roling scars –

इस टाइप के scars हमारी स्किन को पूरा रब बना देते हैं यह फ्लैट सौसर जैसे दिखते हैं।
इस तरह के scars हमारी स्किन के डीप लेयर के साथ एकदम चिपके हुए होते हैं और गोलाकार आकार में भी होते हैं।

Roling scars
Roling scars

! Boxscar – 

इस टाइप के scars काफी deep और sharp  होते हैं जो काफी दूर से भी पहचाने जा सकते हैं और इन्हें मेकअप से भी छुपाना बहुत मुश्किल हो जाता है।

Icepicscar – 

इस टाइप के scars काफी छोटे छोटे होते हैं और इनका आकार आइस्क्यूब की तरह होता है, लेकिन यह अंदर बहुत गहराई तक जाते हैं और इस तरह के scars को भी मेकअप से छुपाना मुश्किल होता है।

Icepick scar
icepick scar

hypertropic scars

जब कभी कभी हमारे त्वचा में हीलिंग के दौरान ज्यादा मात्रा में कॉलेजन का निर्माण होता है तब हमारे स्किन पर छोटे-छोटे पंपिंग टाइप्स से scars बन जाते हैं।
इस तरह के scars ज्यादातर हमारी नाक के उपर अथवा हमारे पेट और छाती पर भी हो जाते हैं।

Giloyad scars – 

इस टाइप के scars, hypertropic scars की तुलना में बहुत ज्यादा बड़े होते हैं और यह लाल गुलाबी रंग के होते हैं कभी-कभी तो यह समय के साथ बड़े होने लगते हैं और अपने सीमित स्थान से बाकी अंगों में ही पहले लगते हैं और इनका समाधान करना बहुत मुश्किल होता है।


Acne scars removel treatment पिंपल्स के गड्ढे भरने का उपाय –

Dermarolar – 

पिंपल के गड्ढों से निजात पाने के लिए dermarolar एक बहुत ही शानदार उपकरण है।
यह एक रोलर की तरह होता है जिसमें छोटे छोटे निडल लगे होते हैं।

Dermarolar
Dermarolar

जब ये निडल हमारी स्किन में जाते हैं तो कॉलेजिन produce होने लगता है और हमारी स्किन रिपेयर होने लगती हैं और गड्ढे धीरे-धीरे भरने लगते हैं
“डरमा रोलर के बारे में पूरी जानकारी”

Thuja 1m –

यदि किसी भी तरह से आपके फेस पर गड्ढे पड़ गए हैं तो आपको Thuja 1m मेडिसिन कि चार बूंद हफ्ते में केवल एक बार लेनी है और इसका सेवन लगातार छह हफ्तों तक करना है इससे आपको अपने चेहरे पर बहुत ज्यादा फर्क नजर आएगा

Silicea 1m- 

Silicea 1m मेडिसिन हमारे चेहरे में पनप रहे पिंपल एक्ने के बैक्टीरिया को खत्म करता है और साथ ही साथ उनके द्वारा बने हुए गड्ढों का भी सफाया कर देता है।
इस दवाई की भी चार बूंद हफ्ते में एक बार ही लेनी है लेकिन ध्यान रहे जिस दिन आप thuja का सेवन करें उस दिन इस दवाई का सेवन तो ना करें

Skin peel –

इस तरह के ट्रीटमेंट में त्वचा को smooth किया जाता है। इसमें मुख्य रूप से एसिड का प्रयोग किया जाता है अतः इसे हमेशा डॉक्टर की निगरानी में ही कराना चाहिए।

Tca cross treatment –

इसमें ट्रैक्लोरो एसिटिक एसिड को pimple के द्वारा बने हुए गड्ढों में डाला जाता है जिससे उनमें कॉलेज इन बनता है और गड्ढे भर जाते हैं

Fractional co2 laser treatment –

इस तरह के लेजर ट्रीटमेंट पिंपल के गड्ढों को भरने के लिए बहुत फायदेमंद होते हैं।
इनका असर एक ही ट्रीटमेंट में पूरी तरह दिखाई देने लगता है। इस ट्रीटमेंट को कराने के बाद चेहरे में कुछ समस्या भी हो जाती है, जिसे अपने आप ठीक होने में 4 से 6 दिन लग जाते हैं।

Fraxel non ablative laser –

यह लेजर ट्रीटमेंट पिंपल के गड्ढों को भरने के लिए बहुत उपयोगी होता है और हमारी स्किन अच्छी दिखने लगती हैं, लेकिन इससे अच्छे परिणाम चाहते हैं तो आपको इसके चार से पांच सेशन भी करवाने पड़ सकते हैं।

यह treatment छोटे-मोटे गड्ढों को भरने के लिए ही किया जाता है।

बहुत बड़े गड्ढे जो हमारी स्किन का आकार भी बिगाड़ देते हैं उनमें लेजर ट्रीटमेंट भी कोई ज्यादा फायदा नहीं पहुंचा पाता  इसलिए बड़े गड्ढों को भरने के लिए subcision and fillers का ही उपयोग किया जाता है।

Subcision  and fillers – 

यह ट्रीटमेंट pimple से बने हुए बहुत बड़े गड्ढों को भरने के लिए किया जाता है।
इसमें त्वचा में एक नीडल डालकर बेकार हिस्सों को काटा जाता है और इसके बाद इसमें fillers भरे जाते हैं, इसके कारण माय स्किन ऊपर आ जाती है और साफ दिखाई देने लगती हैं।

Acne scars removel cream – 

एक्ने स्कार को रिमूव करने के लिए तो बेहतरीन क्रीम का उपयोग किया जा सकता है जो आपको मेडिकल स्टोर्स में इन नाम से मिल जाएंगे tretinion and tazarotene ।

यह दोनों ही क्रीम समान रूप से प्रभावी हैं लेकिन इनका असर तभी दिखता है जब इसका आप लगातार  6 से 9 महीने तक इस्तेमाल करें।

Tretinion cream  के अलावा आप मार्केट से tretinion के टेबलेट भी ले सकते हैं और dermetologist से पूछकर इसकी खुराक भी तय कर सकते हैं।

ट्रेटिनोइन क्रीम और टैबलेट दोनों हमारे  शरीर से हमारी पुरानी स्किन को जल्दी जल्दी बाहर निकालती है और नए कोशिकाओं का निर्माण जल्दी-जल्दी  करती है जिसके कारण हमारी स्किन तेजी से भरना शुरू हो जाती है।

Acne scars removel cream  लगाने से पहले सावधानियां एवं उसके side effects –

इन क्रीम का उपयोग अपने doctor से पूछ कर करें।

इस क्रीम का उपयोग दो-तीन तिल के दाने से ज्यादा बिल्कुल भी ना करें अर्थात बहुत कम मात्रा में करे।

इस क्रीम को अपने चेहरे पर लगाने से पहले अपनी आंखों के नीचे और पूरे चेहरे में जहां पर भी इस क्रीम का उपयोग नहीं करना है वहां पर पेट्रोलियम जेली का इस्तेमाल करें।

यदि एक्ने स्कार आपकी आंखों के ठीक आसपास में है तो इस क्रीम का उपयोग वहां पर बिल्कुल भी ना करें।

इंडिया प्रेग्नेंट है या फिर प्रेगनेंसी प्लान कर रहे हैं तो भी इस क्रीम का उपयोग आपके लिए घातक होगा।

इस क्रीम का उपयोग करने के बाद सभी व्यक्तियों के चेहरे में छोटे-मोटे साइड इफेक्ट्स दिखाई देते हैं जैसे कभी कभी एक दो छोटे pimple निकल आना या फिर ओपन पोर्स।

लेकिन कभी-कभी इसके उपयोग से आपकी त्वचा बहुत ज्यादा लाल हो जाती है और उसमें जलन भी होने लगती है और कुछ व्यक्तियों में तो इसको लगाने के बाद चेहरा पूरा काला पड़ जाता है ऐसी स्थिति में इस क्रीम को जल्द से जल्द बंद कर देना चाहिए।

इस क्रीम की शुरुआत हमेशा सबसे कम strength💪 वाले क्रीम से करना चाहिए।
यदि यह आपके स्किन को सूट करते हैं और कोई ज्यादा साइड इफेक्ट्स नहीं होते तो आप धीरे-धीरे ज्यादा स्ट्रैंथ वाली क्रीम का भी यूज कर सकते हैं लेकिन सावधानी बहुत जरूरी है।

और इस तरह के क्रीम को छोटे बच्चों से हमेशा दूर रखना चाहिए।

ऊपर दिए गए उपायों से 95 प्रतिशत तक आपके acne scars पिंपल के गड्ढे ठीक हो जाएंगे।
यदि फिर भी आपको कोई परेशानी आ रही है तो आप कमेंट करके पूछ सकते हैं।

Leave a Comment